Sun. Sep 20th, 2020

HBN | Haryana Breaking News

Haryana Ki Awaz

हाईकोर्ट के दिशा निर्देश पर बोले शिक्षा मंत्री- ऑनलाइन शिक्षा देना शौक नहीं मजबूरी

यमुनानगर:कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरे देश में स्कूल बंद पड़े हैं। इस संक्रमण काल में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसके लिए ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है। इसको लेकर हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर का कहना है कि प्रदेश में स्कूली विद्यार्थियों को ऑनलाइन शिक्षा देना कोई शौक नहीं बल्कि सरकार की मजबूरी है। क्योंकि अभी और कोई विकल्प नहीं है।

हाईकोर्ट के निर्णय के बाद मीडिया द्वारा पूछने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमें याचिकाकर्ता बता दें की इसका क्या तरीका है। उन्होंने कहा कि हमने पहले भी ऑनलाइन शिक्षा का निर्धारित समय से समय कम किया है। क्योंकि केंद्र सरकार ने विशेषज्ञों की राय के बाद ऑनलाइन शिक्षा के समय को कम करने के दिशा निर्देश जारी किए थे।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि अभी हम मजबूरी में ऑनलाइन शिक्षा दे रहे हैं, जैसे हालात ठीक होंगे तो इसे बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बच्चे खाली ना बैठे इसलिए ऑनलाइन शिक्षा का विकल्प दिया गया। शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोई भी निर्णय होता है उसके लाभ व हानि दोनों होते हैं। लेकिन जिसमें कम नुकसान हो वह निर्णय लिया जाता है। उन्होंने कहा कि सरकार की स्कूल खोलने की पूरी तैयारी है लेकिन इस पर केंद्र सरकार एवं विशेषज्ञों की राय के बाद ही कोई अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

शेयर करें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.