February 25, 2021

HBN | Haryana Breaking News

Haryana Ki Awaz

मिलनी में चाचा को मिला छोटा कंबल तो तोड़ दी शादी, दरवाजे से लौटी बारात

1 min read

अंबाला. हरियाणा के अंबाला जिले में एक कंबल के कारण शादी टूट गई. अंबाला कैंट में बैंड, बाजा और बारात लेकर पिंजोर से डेंटल सर्जन पहुंचा था. शादी में मिलनी की रस्म के दौरान दूल्हा और दुल्हन पक्ष में विवाद हो गया, जिसके चलते दूल्हे को बिना दुल्हन के लौटना पड़ा. दरअसल, एक कंबल की वजह से बात बिगड़ गई. लड़की वालों ने जो कंबल दूल्हे के चाचा को मिलनी में दिया, वह उन्हें पसंद नहीं आया.

लड़की वालों ने दूल्हे के चाचा की मिलनी छोटे कंबल के साथ करा दी. इस पर विवाद हो गया. इसके बाद फेरों के बजाय दोनों पक्ष मंगलवार रात थाने पहुंच गए. हालांकि, बुधवार सुबह दोनों पक्षों में समझौता हुआ जिसमें लड़के वाले लड़की वालों के शादी की तैयारियों पर हुए खर्च की एवज में 4.50 लाख रुपए चुकाने पर राजी हुए. पुलिस ने बताया कि दोनों पक्षों में आपसी बातचीत के बाद समझौता हो चुका है. दूल्हा बिना दुल्हन के लौट गया है, इसलिए मुकदमा दर्ज करने की कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

मिलनी में दिए कंबल नहीं आए पसंद
बता दें कि लड़की वालों ने शगुन पैलेस में शादी के इंतजाम किए थे. मंगलवार रात करीब 9 बजे बारात आई और लड़की वालों ने दूल्हे पक्ष का स्वागत किया. बाराती जहां पैलेस में खाने का आनंद ले रहे थे, वहीं वर-वधू पक्ष में मिलनी की रस्म हो रही थी. जब दूल्हे के चाचा की मिलनी छोटे कंबल के साथ कराई गई तो इस पर विवाद हो गया. इस दौरान दूल्हे के परिजनों ने कहा कि उन्होंने मिलनी के मामले में पहले ही बता दिया था, फिर भी उनके मुताबिक मिलनी नहीं की गई. इसी बात पर विवाद बढ़ा और बात बिगड़ गई.

दूल्हे ने शादी से नहीं किया इनकार, फिर भी नहीं बनी बात
रात साढ़े 11 बजे पुलिस चौकी में मामला पहुंच गया. यहां दुल्हन पक्ष के लोगों ने दूल्हे पक्ष पर कई तरह के आरोप लगाए और रात को ही बारात को पिंजौर लौटा दिया गया. दूल्हा और उनके परिजन अम्बाला में रुके रहे. बुधवार को लोगों ने समझौते का प्रयास किया. पुलिस के सामने दूल्हे ने शादी से इनकार नहीं किया, लेकिन लड़की वालों का कहना था कि जब मिलनी को लेकर इतनी बड़ी बात हो सकती है तो ससुराल में जाने के बाद उनकी बेटी के साथ न जाने क्या होगा.

शेयर करें
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.