Wed. Nov 13th, 2019

HBN | Haryana Breaking News

Haryana Ki Awaz

शुक्रवार को रिलीज होने वाली फिल्म नानक शाह फकीर के दृश्यों को लेकर सिख संगठनों में भारी रोष सिनेमाघरों में लगने न देने का ऐलान

फ़िल्म पद्मावत के बाद एक और फ़िल्म प्रशासन की मुशकीलें बढ़ती नजर आ रही है। शुक्रवार रिलीज होने वाली पंजाबी फिल्म नानक शाह फकीर का सिख संगठनों ने विरोध किया है। सिख संगठनों ने फ़िल्म को अम्बाला के सिनेमाघरों में लगने न देने का ऐलान भी कर दिया है। इन्होंने सरकार से किसी भी हाल में फ़िल्म रिलीज न होने देने की अपील की है जिसे लेकर सिख संगठनों ने बैठक की।

शुक्रवार को रिलीज होने वाली फिल्म नानक शाह फकीर के दृश्यों को लेकर सिख संगठनों में भारी रोष है। इसी रोष को व्यक्त करने के सिख संगठन रेजिमेंट बाजार के गुरुद्वारा श्री सिंह सभा मे एकत्रित हुए और फ़िल्म के विरोध की रणनीति तैयार की।  सिखों का कहना है कि फ़िल्म की वजह से सिखों की भावनाओं को चोट पहुंची है। सिख गुरुओं और उनके परिवारों का किरदार कोई भी व्यक्ति न तो निभा सकता और न ही इसका किसी को अधिकार है।

इस फ़िल्म में काम करने वाले लोगों के असल जीवन भी सही पैमानों पर खरे नहीं उतरते। सिख संगठनों का सरकार और प्रशासन से आग्रह है कि इस फ़िल्म को किसी भी हाल में सिनेमाघरों में न लगने दिया जाए। यदि ऐसा हुआ तो सिख समाज इसका डटकर विरोध करेगा।

वही इस मुद्दे पर हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने सिख समाज का समर्थन करते हुए कहा कि जो भी धार्मिक या ऐतिहासिक मुद्दों को लेकर फिल्मे बनाई जाती है इनमे बहुत ज्यादा अध्यन करने की जरुरत होती है इसमें किसी भी प्रकार से छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए क्योंकि ये आस्था का विषय है और लोगो की आस्था के साथ खिलवाड़ नहीं किया जा सकता !  सिख समाज द्वारा इस फिल्म को लेकर की गई बैठक पर उन्होंने कहा कि लोगो की भावनाओं का ध्यान रखा जायेगा !

शेयर करें
  • 85
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.