Home / खेल

खेल

करनाल के बेटे क्रिकेटर नवदीप सैनी का टी-20 टीम में हुआ चयन ,बधाईओं का लगा तांता

करनाल जिले व तरावड़ी शहर का होनहार खिलाड़ी अब अपने देश भारत के लिए खेलेगा। नवदीप का चयन इंडियन टीम में हो गया है। भारत के सबसे तेज गेंदबाज नवदीप की इस उपलब्धि पर सोमवार को हल्का विधायक भगवानदास कबीरपंथी उसके निवासी पर पहुंचे और उसके माता-पिता से मिले और बधाई दी।

विधायक ने नवदीप के माता पिता को मिठाई खिलाकर मुंह मिठा करवाया। विधायक ने नवदीप के माता पिता को कहा कि उन्होंने हिंदूस्तान को कोहिनूर हीरा दिया है। नवदीप के तरावड़ी ही नहीं पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है। आज नवदीप का संघर्ष और जुनून रंग लाया है। नवदीप ने एक बड़ी कामयाबी हासिल की है।

बता दें कि नवदीप सैनी को विंडीज दौरे के लिए वनडे और टी-20 टीम में जगह मिली है। नवदीप अपनी रफ्तार के लिए जाने जाते हैं और इस सीजन आईपीएल में कोहली की टीम आरसीबी के साथ खेलते हुए उन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया और सुर्खियों में आए।

हरियाणा रेसलर बबीता फोगाट ने चुना हमसफर, कहा- अब वक्त है कि दिलवाले दुल्हनियां ले जाएं

हरियाणा की अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फोगाट ने अपना हमसफर चुन लिया है। मंगलवार को इस बात की जानकारी खुद बबीता ने अपने ट्विटर पर की। बबीता, पहलवान विवेक सुहाग से शादी करने जा रही है। वह मूल रूप से झज्जर के गांव मातनहेल के रहने वाले हैं। विवेक के सोशल प्रोफाइल के मुताबिक साल 2018 में उन्होंने भारत केसरी पुरस्कार जीता था।

बबीता ने अपने परिजनों के साथ विवेक की एक फोटो शेयर की। इसमें बबीता के पिता और चाचा विवेक को आशीर्वाद देते नजर आ रहे हैं। उन्होंने लिखा, ‘विवेक सुहाग जब आपको मेरे पिता से अशीर्वाद मिल जाए तो इसका मतलब है कि यह ऑफिशियल है। अब वक्त है कि दिलवाले अपनी दुल्हनियां को ले जाए।’

हालांकि, अभी शादी की कोई तारीख तय नहीं हुई पर माना जा रहा है कि नवंबर के आखिरी या फिर दिसंबर के पहले सप्ताह में बबीता और विवेक शादी के बंधन में बंध सकते हैं। बबीता का रिश्ता उनके परिजनों की रजामंदी से तय हुआ बताया जा रहा है।

हरियाणा पुलिस में एसआई पद पर तैनात है बबीता

हरियाणा के चरखी दादरी जिले के गांव बलाली में बबीता ने एमडीयू रोहतक से पढ़ाई की है। रेसलिंग में शानदार प्रदर्शन के खलते राज्य सरकार ने 2013 में हरियाणा पुलिस में एसआई बनाया था। वर्तमान में बबीता मधुबन में तैनात हैं।

बबीता की उपलब्धियां

बबीता ने 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीता था। फिर स्काॅटलैंड के ग्लास्गो में आयोजित काॅमनवेल्थ गेम्स 2014 में 55 किलो भार वर्ग में फ्रीस्टाइल कुश्ती में कनाडा की ब्रितानी लाबेरदूरे को हराकर भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता था।

साल 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में वह गोल्ड मेडल से चूक गईं, गोल्ड कोस्ट में खेले गए 53 किलो महिला कुश्ती स्पर्धा के फाइनल मुकाबले में बबीता ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया। बबीता और उनकी बड़ी बहन गीता फोगाट पर बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम चर्चित निर्माता-निर्देशक एवं अभिनेता आमिर खान ने फिल्म दंगल भी बनाई थी। यह फिल्म ठीक उस वक्त रिलीज की गई थी, जबकि गीता की शादी हुई थी।

जज्बे को सलाम: हिसार की अनिता कुंडू ने तीसरी बार माउंट एवरेस्ट पर फहराया तिरंगा ,देखें पूरी खबर

  • दाे बार बर्फीले तूफान ने राेका रास्ता,
  • हार नहीं मानी, 36 दिन में पूरा किया मिशन एवरेस्ट ,
  • अनिता 14 पर्वतारोहियों के एक दल का कर रहीं थी नेतृत्व

हिसार की पर्वतारोही अनिता कुण्डू ने तीसरी बार माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई पूरी की ! उन्होंने 21 मई को सुबह 7 बजे चोटी के शिखर पर तिरंगा फहराया ! माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई नेपाल में लुकला एयरपोर्ट से शुरू की थी ! लुकला से बेस कैंप तक की चढ़ाई अनिता ने 12 दिन में पूरी की ! इसके बाद बेस कैंप पर कई दिन तक प्रैक्टिस जारी रखी !

अनिता ने बेस कैंप से 5 मई को ऊपर चढ़ना शुरू किया, दूसरे कैम्प में ही पहुंचे थे कि 7 मई को बर्फीले तूफान ने उनका रास्ता रोक लिया और उनको वापस बेस कैंप लौटना पड़ा ! तूफान शांत हाेने के बाद अनिता ने एक बार फिर 10 मई को बेस कैंप से चढ़ाई शुरू की, लेकिन 12 को फिर मौसम खराब हो गया ,ऐसे में उन्हें अपनी टीम के साथ वापिस नीचे आना पड़ा !

इस बार अनिता 14 पर्वतारोहियों के एक दल का नेतृत्व कर रही थी ! 16 मई को फिर उन्होंने अपनी टीम का नेतृत्व करते हुए मिशन बेस कैंप से शुरू किया और 36 दिन कठिन संघर्ष करके और दुर्गम बर्फीले रास्तों को पार करते हुए बिना ऑक्सीजन के 21 मई को सुबह 7 बजे एवरेस्ट की चोटी पर झंडा फहराया !

2018 में अनिता ने शुरू किया था अभियान

2018 में अनिता ने सेवन समिट यानी सातों महाद्वीपों की 7 ऊंची चोटियों को फतेह करने का अभियान शुरू किया ! इसमें इंडोनेशिया की कारस्टेन्स पिरामिड शिखर, यूरोप की एलबुर्स, अफ़्रीका की किलिमंजारो, अंटार्कटिका की विन्सन को फतेह करने में कामयाब रही ! अमेरिका की माउंट देनाली पर भी अनिता ने चढ़ाई की, वह फतेह करने ही वाली थी कि बर्फीले तूफान ने उनके कदम रोक दिए थे, जिस वजह से वो अपनी उस यात्रा को पूरा नहीं कर पाई थी !

2013 और 2017 में एवरेस्ट किया था फतह

इससे पहले अनिता कुंडू ने 18 मई, 2013 को नेपाल के रास्ते और 21 मई 2017 को चीन के रास्ते माउंट एवरेस्ट फतह किया था ! वहीं 2015 में भी अनिता ने एवरेस्ट पर चढ़ाई कर रही थी ! 22 हजार फीट तक पहुंच गई थी लेकिन 26 अप्रैल 2015 को एक भयंकर भूकंप ने उनका रास्ता रोक लिया ! इस हादसे में अनिता के साथ के कई पर्वतारोहियों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा और उनके अभियान को कैंसिल कर दिया गया !

हरियाणा के बेटे व अर्जुन अवार्डी विश्व प्रसिद्ध बॉक्सर मनोज की हुई शादी

हरियाणा के बेटे ओलंपियन व गोल्‍ड मेडलिस्‍ट बॉक्सर मनोज कुमार शुक्रवार को सात जन्‍मों के बंधन मेंं बंध गए ! मनोज कुमार कुरुक्षेत्र के मथाना गांव की नेहा संग परिण्‍ाय सूत्र में बंधे ! मनोज ने खेल की तरह अपनी शादी में भी मिसाल कायम की, उन्‍होंने शादी में ऐसा दहेज लिया कि इसकी पूरे क्षेत्र में चर्चा हो रही है ,मिली जानकारी अनुसार मनोज और उनके परिवार ने दहेज में महज एक मुट्ठी चावल लिया !

शादी के लिए बरात वधू के यहां पहुंची तो खेल जगत के सितारे भी पजिनों के साथ ठुमके लगा रहे थे ! वही इस दौरान बॉक्सर दूल्‍हे राजा मनोज भी खुद को रोक नहीं पाए और सबके साथ ठुमके लगाए ! मनोज और नेहा ने एक-दूसरे को माला पहनाई और अग्नि के चारों ओर सात फेरे लेकर सता जन्‍मों बंधन में बंध गए ! इसके बाद वहां मौजूद खेल हस्तियों व लोगों ने वर-वधू को शुभकामनाएं दीं !

मनोज और नेहा की शादी की पार्टी शनिवार रात को पीपली रोड पर स्थित किंगसटल पैलेस में होगी ! इसमें खेल और फि‍ल्‍म जगत की प्रमुख हस्तियां शामिल होंगी ! शादी के रिसेप्‍शन में रेसलर द ग्रेट खली के भी आने की उम्‍मीद है, मैरिकॉम और विजेंद्र कुमार को भी निमंत्रण दिया गया है !

मनोज की बरात में देश के खेल जगत की जानी-मानी हस्तियां शामिल हुईं ! इनमें अर्जुन अवॉर्डी नीरज चोपड़ा, अर्जुन अवार्डी बॉक्सर जितेंद्र, एशियन गेम्स गोल्ड मेडललिस्ट बॉक्सर अमित पंघाल, बॉक्सर धीरज, ओलंपियन सुमित सांगवान, द्रोणाचार्य अवार्डी जयदेव बिष्ट, अंतराष्ट्रीय बॉक्सर गौरव बिधुड़ी, बॉक्सर नीलकमल, दिनेश ओलंपियन, कोच जगदीप हुड्डा व पूंडरी के पूर्व विधायक तेजबीर सिंह शामिल थे !

शादी में अनोखा दहेज लेने के बारे में पूछे जाने पर मनोज के बड़े भाई व कोच राजेश कुमार ने कहा कि अपनी बेटियों को हमें ही बचाना होगा ! दहेज जैसी कुप्रथा को समाज से खत्‍म करनी होगी और दूसरों को भी प्रेरित करना होगा ! ऐसा करने से ही बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा सफल हो पाएगा ! देश के लाखों युवा मनोज को फॉलो करते हैं, हमने सोचा कि यदि हम  समाज में व्याप्त कुरीतियों को मिटाने के लिए पहल करेंगे तो यह दूसरों को सकारात्मक संदेश देगी और युवाओं को दहेज के खिलाफ प्रेरित करेेगी !

मुक्‍केबाज मनोज ने 2010 में दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में स्‍वर्ण पदक जीता था ! 2018 के गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में मनोज ने कांस्‍य पदक जीता ! उन्‍होंने 2007 में मंगोलिया में हुए एशियन चैंपियनशिप  में कांस्‍य पदक, 2013 जॉर्डन में हुई एशियन चैँपियनशिप में कांस्‍य पदक, साउथ एशियन गेम्स 2016 में गोल्ड मेडल जीते ! 2014 में मनोज को भारत सरकार ने अर्जुन अवार्ड से नवाजा था !

रादौर मे 14 तारीख को दिन रविवार सुबह 8 बजे 4 किलोमीटर दौड़ का आयोजन

रादौर मे 14/10/2018 दिन रविवार सुबह 8 बजे 4 किलोमीटर दौड़ का आयोजन किया जा रहा है जिसमे पहला इनाम 21000 रूपये दुसरा इनाम 5100 रूपये और तीसरा इनाम 1100 रूपये और अगले 7 वीजेताओ को 500 रूपये इनाम दिया जायेगा एन्ट्री फीस 300 रूपये होगी

नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, जेवलिन थ्रो में भारत को दिलाया पहला गोल्ड मेडल

नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, जेवलिन थ्रो में भारत को दिलाया पहला गोल्ड मेडल , बहन को किया था वादा रक्षा बंधन पर दूंगा गोल्ड मैडल का तोहफा, परिवार व गाँव मे जस्न का माहौल, लडडू बाट कर मनाई जा रही है खुसी, माँ व परिवार की महिलाओं ने गीत गाते हुए नाचते हुए मनाई खुशी!

भारत के 20 वर्षीय स्टार जेवलिन थ्रो एथलीट नीरज चोपड़ा ने एशियन गेम्स 2018 में भारत को इस स्पर्धा का पहला गोल्ड मेडल दिला दिया है। नीरज चोपड़ा ने ऐतिहासिक प्रदर्शन के साथ अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़कर इस सफलता को हासिल किया है।

इस भारतीय एथलीट ने अपने देश को इस एशियन गेम्स संस्करण का आठवां गोल्ड मेडल दिलाया है। वो इस एशियन गेम्स की ओपनिंग सेरेमनी में भारतीय दल के ध्वजवाहक भी थे।

उन्होंने एशियन गेम्स 2018 में सोमवार को 88.06 मीटर का रिकॉर्ड थ्रो करके सीनियर गेम्स में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी पार कर दिया। उन्होंने इसी साल डायमंंड लीग में फेंके गए अपने 87.43 मीटर के थ्रो को पीछे छोड़ दिया, हालांकि डायमंड लीग में वो पदक जीतने में असफल रहे थे।

इससे पहले हरियाणा के पानीपत में जन्मे नीरज चोपड़ा ने 2016 के दक्षिण एशियाई खेलों में 82.23 मीटर का थ्रो करके गोल्ड मेडल जीता था जहां उन्होंने राष्ट्रीय रिकॉर्ड की भी बराबरी की थी। उन्होंने इसी साल गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में 86.47 मीटर का थ्रो करके भी गोल्ड मेडल जीता था।

विनेश फोगाट ने दिलाया एशियाड में महिला कुश्ती के इतिहास में भारत को पहला स्वर्ण

विनेश फोगाट ने सोमवार को 18वें एशियाई खेलों में भारत को कुश्ती में दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया। उन्होंने 50 किग्रा फ्रीस्टाइल फाइनल में जापान की इरी युकी को 6-2 से हराया।

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वालीं वे पहली भारतीय महिला हैं। इसके पहले भारत की ओर से गीतिका जाखड़ ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। गीतिका ने 2006 दोहा एशियाड में रजत पदक जीता था।

इससे पहले विनेश ने सेमीफाइनल में उज्बेकिस्तान की पहलवान दौलतबाइक याकशीमुरातोवा को महज 1:15 मिनट में तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हरा दिया।

कुश्ती में जब कोई खिलाड़ी अपने प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 10 अंक की बढ़त हासिल कर लेता है तो उसे विजयी घोषित कर दिया जाता है, फिर चाहे मुकाबला पूरे होने में कितना भी समय क्यों न बचा हो। विनेश के फाइनल में पहुंचने के बाद उनके ताऊ और पहलवान महावीर सिंह फोगाट ने उन्हें ट्वीट कर बधाई दी थी और स्वर्ण पदक के साथ देश लौटने का संदेश दिया था।

करनाल में हरियाणा पुलिस के इस ए एस आई की बॉडी के आगे बॉलीवुड स्टार भी है फीके, जीत चुके है कई अवार्ड्स

पत्नी के जिम में अभ्यास कर मधुबन पुलिस अकादमी में तैनात एएसआई पति सोनीपत में आयोजित बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में ब्रांज मेडल जीतकर मिस्टर इंडिया का खिताब हासिल किया है। एएसआई राकेश के साथ उसका 15 वर्षीय बेटा अगम भी अपने पिता के साथ जीम में अभ्यास करता है।

यह ज‌िम राकेश की पत्नी ज्योति का है जो राकेश को अभ्यास भी कराती है। जिसकी बदौलत राकेश पांच मेडल जीत चुका है, इनमें दो सिल्वर और तीन ब्रांज मेडल शामिल है। बता दें एक जुलाई को सोनीपत में विद्या मंदिर पीठ पब्लिक स्कूल में बॉडी बिल्डिंग स्पोर्ट्स एसोसिएशन की ओर से बॉडी ‌बिल्डिंग 2018 मिस्टर इंडिया प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था।

इस प्रतियोगिता में 57-80 किलोग्राम भार में 30 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। जिसमें राकेश ने तीसरा स्थान हासिल किया। सो‌नीपत के जौली गांव निवासी एएसआई राकेश मधुबन पुलिस अकादमी में न्यू इंडोर फाइर‌िंग रेंज के इंचार्ज है। पिछले 15 साल से वे हरियाणा पुलिस मधुबन अकादमी में सेवा दे रहे हैं।

राकेश पांच सितंबर को राजस्थान में होने वाली प्रतियोगिता में हिस्सा लेगा जो इंडिया पुलिस द्वारा कराई जाएगी।

सुबह शाम पत्नी कराती है अभ्यास, बेटा भी ले रहा है मां से ट्रेनिंग

एएसआई राकेश की पत्नी ‌ज्योती का मधुबन पुलिस अकादमी के गेट पर दी रॉक जिम है। ड्यूटी से पहले सुबह और ड्यूटी के बाद शाम को राकेश अपनी पत्नी के सहयोग से जिम में अभ्यास करता है।

तीन महीने में राकेश ने 30 किलो वजन घटया है। पहले राकेश का 100 किलोग्राम वजन था अब उसका वजन 75 किलोग्राम है। इतना ही नहीं राकेश का बेटा अगम भी अपनी मां से ट्रेनिंग ले रहा है। उसकी मां ज्योती अपने बेटे को उसके पिता की तरह बॉडी बिल्डर बनाना चाहती है।

एमएससी पास है एएसआई, बच्चों को भी पढ़ा चुका है

एएसआई राकेश ने एमएससी कंप्यूटर साइंस की हुई है, वह 15 वर्ष पहले कांस्टेबल भर्ती हुआ था। क्लर्क से लेकर उसने बच्चों को भी शिक्षा दी है। मधुबन पुलिस अकादमी के स्कूल में उसने बच्चों को साइंस सब्जेक्ट भी पढ़ाया है।

2015 में उसने पहला सिल्वर मेडल हांसी में हासिल किया था। हांसी में हरियाणा बॉडी ‌बिल्डिंग एंड फिटनेस एसोसिएशन ने प्रतियोगिता का आयोजन किया था। इसमें राकेश ने सिल्वर मेडल हासिल किया था। इसके बाद पानीपत ब्रांज, समालखा में सिल्वर, अंबाला व पानीपत में चौथे स्थान पर रहा है।

राकेश ने बताया क‌ि उसे मिस्टर वर्ल्ड बनना है। उसने बताया क‌ि हरियाणा पुलिस में भी बॉडी बि‌ल्डिंग गेम शामिल हो चुका है। वह इंटरनेशनल स्तर पर हरियाणा पुलिस का नाम रोशन करना है।

करनाल के रहने वाले पति पत्नी ने जीता गोल्ड मैडल

(उर्वशी चावला ): करनाल सेक्टर- 7 निवासी राजेश खन्ना ने 9 वें युवरानी राष्ट्रीय ओपन एथलेटिक्स चैम्पियनशिप जो की जम्मू-कश्मीर, में 26-27 जून 2018 को आयोजित किया गया था, इस प्रतियोगिता में उन्होंने 4 x100 मीटर रिले में 1 गोल्ड मेडल, 400 मीटर में 2 सिल्वर मेडल, 100 मीटर में 1 ब्रॉंज़ मेडल जीत कर अपना और अपने शहर का नाम रोशन किया।

भारतीय वायु सेना से सेवानिवृत्त राजेश खन्ना ने 20 साल की सेवा की और अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रिय स्तर पर काफ़ी सारे पदक भी जीते थे। फ़िलहाल वे निजी कम्पनी में काम करते हैं।

केवल यही नहीं राजेश खन्ना की पत्नी दीपा खन्ना ने भी पहली बार नैशनल चैम्पीयन्शिप में भाग लिया और 45+ आयु वर्ग में, 100 मीटर, 400 मीटर और 4X100 मीटर में 3 गोल्ड मेडल और 200m में 1 ब्रॉंज़ मेडल जीत कर ये साबित किया कि वे किसी से कम नहीं। अभी वें करनाल के निजी स्कूल में एक शिक्षक के रूप में काम कर रही है।

यह विवाहित जोड़े ने न केवल अपना और अपने शहर का नाम रौशन किया बल्कि काफ़ी लोगों के लिए मिसाल भी बने।

हरियाणा खिलाड़ियों पर झुकी खट्टर सरकार, सभी 22 पदक विजेताओं को मिलेगी अब पूरी इनामी राशि ,देखें बड़ी खबर

अाखिरकार हरियाणा सरकार ने खिलाडि़यों की सुन ली और कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में पदक जीतने वाले खिलाडियों को इनामी रा‍शि देने को लेकर अपनी जिद छोड़ दी है ! खिलाड़ियों के बढ़ते विरोध को शांत करते हुए मनोहर लाल सरकार ने यह यूटर्न लिया है !

मिली जानकारी प्रदेश सरकार अब राष्ट्रमंडल के पदक विजेता सभी 22 खिलाड़ियों को पूरी इनामी राशि प्रदान करेगी, पहले अन्‍य राज्‍यों व संस्‍थाओं की ओर से खेलने वाले खिलाडियों की पुुरस्‍कार राशि में कटौती करने की बात कही गई थी ! खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री अनिल विज ने इसके लिए प्रस्ताव बनाकर जल्द ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास भिजवाने का ऐलान किया है !

File Photo

विज ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इसके लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल मान जाएंगे और वह उन्हें मना लेंगे, माना जा रहा है इससे खिलाडिय़ों का गुस्‍सा शांत होगा और सरकार के खिलाडियों की शिकायत खत्‍म होगी ! स्वर्ण पदक विजेता को डेढ़ करोड़, रजत पदक विजेता को 75 लाख और कांस्य पदक विजेता को 50 लाख की राशि प्रदान की जाएगी ! इससे पहले मुख्‍यमंत्री ने खिलाडि़यों के प्रोफेशनल खेल व विज्ञापन से कमाई में से बड़ा हिस्‍सा लेने के खेल विभाग के आदेश पर रोेक लगा दी थी !

File Photo

खेल विभाग के प्रधान सचिव अशोक खेमका द्वारा जारी इस अादेश पर काफी हंगामा मचा था ! खिलाडी़ इस आदेश के खिलाफ खुलकर सामने आ गए थे और सरकार की काफी किरकिरी हुई थी ! इसके साथ ही मनोहर सरकार ने दूसरी बड़ी घोषणा राज्य के उन खिलाड़ियों के हक में की है , यह खुशखबरी सरकारी नौकरी का इंतजार कर रहे खिलाडियो के लिए है !

File Photo

खट्टर सरकार ऐसे 207 खिलाड़ियों को नौकरी देंगी ,मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इन सभी खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी देने संबंधी फाइल अप्रूव कर दी है, जिनकी प्रक्रिया जल्द शुरू हो जाएगी ! बता दें कि पिछले दिनों आस्‍ट्रेलिया में आयोजित कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में हरियाणा के 22 ख्‍ािलाडियाें ने पदक जीते थे !

हरियाणा सरकार ने कहा था कि नई खेल नीति के तहत पदक विजेताओं को इनाम दिए जाएंगे, लेकिन अन्‍य राज्‍यों व संस्‍थाओं की ओर से खेलने वाले खिलाडियों की राशि में कटौती की बात कही गई थी ! सरकार का कहना था कि अन्‍य राज्‍यों व सस्‍थाओं की ओर से जाे राशि इन खिलाडियों को मिलेगी वह यहां की इनाम राशि से काट ली जाएगी !

ऐसे 13 खिलाड़ी थे, इस पर विरोध इतना बढ़ा था कि खिलाडि़यों को सम्‍मानित करने के लिए आयोजित समारोह को रद करना पड़ा था !

KBN