Home / समाचार / करनाल / 28 साल बाद करनाल सीट पर भाजपा की ओर से लड़ेगा पानीपत का प्रत्याशी ,देखें पूरी खबर

28 साल बाद करनाल सीट पर भाजपा की ओर से लड़ेगा पानीपत का प्रत्याशी ,देखें पूरी खबर

  • 28 साल बाद करनाल सीट पर भाजपा की ओर से लड़ेगा पानीपत का प्रत्याशी ,देखें पूरी खबर
  • दो विस चुनाव हार चुके संजय भाटिया को सीएम की सिफारिश से मिला करनाल लोकसभा का टिकट
  • 1991 में पानीपत के फतेह चंद विज ने लड़ा था चुनाव, महज 81 हजार 780 मिले थे वोट

चुनावी आंकड़ों पर नजर डालें तो 1991 में पानीपत के फतेह चंद विज ने भाजपा के निशान पर करनाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था ! इसके बाद कभी भी पानीपत के किसी उम्मीदवार को भाजपा ने टिकट नहीं दिया ! 1996 से लेकर 2009 तक इस सीट पर भाजपा ने अम्बाला के आईडी स्वामी को बारी-बारी उतारा ! वे 1996, 1998, 1999, 2004, 2009 में करनाल लोकसभा से चुनाव लड़े , इसमें 1999 में उन्होंने जीत दर्ज की , इसके बाद 2014 में दिल्ली के अश्वनी चोपड़ा को भाजपा ने इस सीट पर उतारा और मोदी लहर में उन्होंने कांग्रेस के अरविंद शर्मा को हरा दिया !

हरियाणा की 8 लोकसभा सीट पर भाजपा ने दावेदार घोषित कर दिए हैं , इनमें करनाल लोकसभा सीट पर पानीपत के संजय भाटिया चुनाव लड़ेंगे ! 28 साल बाद ऐसा मौका आया है जब भाजपा की सीट पर पानीपत से कोई उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरा है ! इस सीट का इतिहास बताता है कि यहां या तो करनाल से उम्मीदवार चुनाव लड़ते आए हैं या फिर बाहरी जिलों के उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा है !

दो बार विधानसभा चुनाव हार चुके और सीएम मनोहर लाल खट्टर के नजदीकी संजय भाटिया को भाजपा ने करनाल लोकसभा से प्रत्याशी बनाया है ! पार्टी ने तो वफादारी का इनाम दे दिया, भाटिया को उस पब्लिक का समर्थन हासिल करना होगा, जिसमें आम धारणा है कि वे किसी का फोन तक नहीं उठाते ! लेकिन, 52 वर्षीय संजय भाटिया का कभी कोई व्यक्तिगत राजनीतिक एजेंडा नही रहा और न ही किसी से व्यक्तिगत बैर ! राजनीतिक महत्वाकांक्षा के कारण पानीपत शहरी विधायक रोहिता रेवड़ी और ग्रामीण विधायक महीपाल ढांडा से भले ही मतभेद रहा हो, लेकिन पूरा संगठन भाटिया के साथ है !

करनाल लोकसभा के लिए 17 बार सांसद चुने जा चुके हैं, जिसमें से दो बार पानीपत को सांसदी मिल चुकी है ! जब कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में 1967 फिर 1971 में माधो राम शर्मा सांसद चुनाव जीते, शर्मा पानीपत के रहने वाले थे, जो उद्योगपति अविनाश पालीवाल के ताऊ थे ! इसके बाद 1991 भाजपा से फतेहचंद विज को करनाल लोकसभा का प्रत्याशी बनाया गया था, लेकिन विज 81780 वोट लेकर चौथे स्थान पर रहे थे, अब चौथी बार है जब बड़ी पार्टी से संजय भाटिया के रूप में पानीपत को टिकट मिली है ! 

1.91 लाख पंजाबी, 1.93 जाट, 1.45 लाख ब्राह्मण वोटर, कांग्रेस ने नामी चेहरा उतारा तो टफ होगा मुकाबला

इस बार परिस्थिति अलग है, मोदी की उतनी लहर नहीं , इसलिए, कांग्रेस के साथ इनेलो और जजपा के प्रत्याशी कौन होंगे, इससे भी जीत का समीकरण बनेगा ! क्योंकि, करनाल लोकसभा में 1.91 लाख पंजाबी वोट हैं, जो जाट वोट 1.93 से भी कम है , उस पर 1.45 लाख ब्राह्मण वोटर हैं ! इसलिए, संजय भाटिया की राह आसान नहीं है, कांग्रेस अगर कोई नामी चेहरा उतार दे तो भाटिया का समीकरण बिगड़ सकता है !

करनाल लोस क्षेत्र में वोटों का समीकरण

कुल वोट : 1852256

करनाल : 1047522

पानीपत : 804734

शेयर करें
  • 29
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

About admin

Check Also

मोदी लहर में ढह गए दिग्गजों के किले ,बंसीलाल,चौटाला ,भजनलाल और हुड्डा परिवार हारें ,देखें पूरी खबर

(रिपोर्ट – कमल मिड्ढा ): मोदी लहर का जादू एक बार फिर 2019 के लोकसभा …

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *